शब्द भेद हिंदी व्याकरण PDF in Hindi

शब्द भेद हिंदी व्याकरण Hindi PDF Download

शब्द भेद हिंदी व्याकरण in Hindi PDF download link is given at the bottom of this article. You can direct download PDF of शब्द भेद हिंदी व्याकरण in Hindi for free using the download button.

शब्द भेद हिंदी व्याकरण Hindi PDF Summary

नमस्कार दोस्तों, इस लेख के माध्यम से हम आपको शब्द भेद हिंदी व्याकरण PDF / Shabd Bhed Hindi Vyakaran PDF के लिए डाउनलोड लिंक दे रहे हैं। आज हम आपसे शब्द और उसके भेदों के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा करेंगे। शब्द किसे कहतें है? शब्द की क्या परिभाषा है? शब्द कितने प्रकार के होते हैं या शब्द के कितने भेद होतें हैं? हिंदी व्याकरण में शब्द का क्या महत्तव है? इन सब के बारे में विस्तार से बतायेंगें।

जब हम कुछ भी बोलते हैं तो बोलते समय हमारे मुख से अनेक प्रकार की ध्वनियां निकलती हैं, चाहे हम जाने या अनजाने में ही क्यों ना ऐसा  करते हों। इन्हीं ध्वनियों के मेल से शब्द बनते हैं। इस प्रकार वर्णों के सार्थक मेल से ही शब्द बनते हैं, शब्दों का निर्माण होता है।

शब्द भेद हिंदी व्याकरण PDF – Content

शब्द की परिभाषा:–‘एक से अधिक वर्णों के मेल से बने सार्थक समूह को शब्द कहते हैं। जैसे- दमन, कमल, नयन, माता, बहन, सपना, सुबह, दौलत, रागनी, गायक, कलाकार आदि| इससे पहले की पोस्ट में  हमने आपसे वर्ण की परिभाषा व इसके भेदों के बारे में विस्तार से चर्चा की थी।

शब्दों का वर्गीकरण

शब्दों को  निम्न चार प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है-

1.- रचना या बनावट के आधार पर

2.- उत्पत्ति के आधार पर

3.- अर्थ के आधार पर

4.- प्रयोग के आधार पर

1.- रचना के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण:-

रचना के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण  तीन प्रकार से किया जा सकता है-

(1) रूढ़

(2) यौगिक

(3) योगरूढ़

(1) रूढ़ शब्द:– वे शब्द रूढ़ शब्द कहलातें हैं जो एक से अधिक वर्णों के योग से बने हों और जिन के टुकड़ों का कोई भी अर्थ ना निकाला जा सकता  हो उन्हें रूढ़ शब्द कहते हैं| ये शब्द किसी अन्य शब्दों के योग से नही बने होते|

जैसे- लता, कल, डर, शहर आदि।

(2) यौगिक शब्द:– वे शब्द जो एक से अधिक शब्दों के योग से मिलकर बने होते हैं  तथा जिनके प्रत्येक खंड का अर्थ निकलता हो उन्हें यौगिक शब्द कहते हैं।

जैसे- राष्ट्रपिता, व्यायामशाला, प्रधानमंत्री, मूत्रालय, राष्ट्रपति, देवालय, देवदूत आदि।

(3) योगरूढ़ शब्द:– वे शब्द जो एक से अधिक शब्दों के  योग से तो बने हों लेकिन किसी विशेष अर्थ को प्रकट करते हो, उन्हें योगरूढ़ शब्द कहते हैं|

जैसे- लंबोदर, दशानन, पंकज,चारपाई, त्रिवेदी, चतुर्भुज, अष्टाध्यायी आदि।

शब्द और उसके भेद:-

उत्पत्ति के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण

2.- उत्पत्ति के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण:-

उत्पत्ति के आधार पर शब्द  चार प्रकार के होते हैं-

(1) तत्सम शब्द

(2) तद्भव शब्द

(3) देशज शब्द

(4) विदेशज शब्द

(1) तत्सम शब्द:– संस्कृत भाषा के उन शब्दों को तत्सम शब्द कहा जाता है जो हिंदी भाषा में ज्यों के त्यों  प्रयोग किये जाते हों,  तत्सम शब्द कहलाते हैं।

अर्थ के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण

3.-  अर्थ के आधार पर शब्दों का वर्गीकरण:-

अर्थ के आधार पर शब्द दो प्रकार के होते हैं-

(1) सार्थक शब्द

(2) निरर्थक शब्द

(1) सार्थक शब्द:– जिन शब्दों का कोई ना कोई अर्थ निकलता हो, वे सार्थक शब्द कहलाते हैं।

जैसे- रोटी, होली, डंडा ,दशहरा, पानी , गंगा, आधुनिक, विज्ञान आदि।

(2) निरर्थक शब्द:– जिन शब्दों का कोई अर्थ ना निकले, वे निरर्थक शब्द कहलाते हैं।

जैसे- वाम, छुलनी,वाय, वानी, वोटी, वाला आदि।

नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर के आप शब्द भेद हिंदी व्याकरण PDF / Shabd Bhed Hindi Vyakaran PDF मुफ्त में डाउनलोड कर सकते है।

शब्द भेद हिंदी व्याकरण PDF Download Link

REPORT THISIf the download link of शब्द भेद हिंदी व्याकरण PDF is not working or you feel any other problem with it, please Leave a Comment / Feedback. If शब्द भेद हिंदी व्याकरण is a copyright material Report This. We will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

RELATED PDF FILES

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *