हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh PDF in Hindi

हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh Hindi PDF Download

हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh in Hindi PDF download link is given at the bottom of this article. You can direct download PDF of हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh in Hindi for free using the download button.

Tags:

हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh Hindi PDF Summary

नमस्कार मित्रों, इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको हिंदी दिवस पर निबंध PDF / Hindi Diwas Par Nibandh PDF in Hindi के लिए डाउनलोड लिंक दे रहे हैं। हिंदी दिवस का यह स्पेशल दिन हर साल बड़े हर्षोल्लास के साथ 14 सितंबर को मनाया जाता है। अगर आपके स्कूल या कॉलेज में आपको हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर एक निबंध लिखने के लिए दिया है तो आप इसे यहाँ से देख कर बड़ी आसानी से लिख सकते हैं। अगर आपके स्कूल या कॉलेज में किसी प्रकार के समारोह का आयोजन किया गया है तो आज के लेख में हम आपको हिंदी दिवस के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देने जा रहे हैं। इस पोस्ट में दिए गए लिंक पर क्लिक कर के आप राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF / हमारी मातृभाषा हिंदी पर निबंध PDF डाउनलोड कर सकते हैं।

इस पोस्ट में दिए गए लेख के द्वारा आप बड़ी आसानी से निबंद लिख या याद कर सकते हैं। भारतीय संविधान सभा ने 14 सितंबर 1949 को राजभाषा का दर्जा दिया, जबकि भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 में लागू किया गया।

हिंदी दिवस पर निबंध PDF | Hindi Diwas Par Nibandh PDF in Hindi

भूमिका

भारत एक विशाल देश है । प्राचीनकाल से यहाँ धर्म, भाषा तथा संस्कृति में विविधता होने के बावजूद भारतवासी परस्पर मिल-जुलकर रह रहे हैं । भारत में अनेक भाषाएँ बोली जाती हैं, परन्तु वर्तमान भारतीय संविधान में 19 प्रादेशिक भाषाओं को भारतीय भाषा के रूप में मान्यता मिली है।

इन भाषाओं में हिन्दी भारतवर्ष में सबसे अधिक बोली जाने वाली भारतीय भाषा है । भारत स्वतंत्र होने के पश्चात् सन् 1949 में, 14 सितम्बर के दिन भारतीय संविधान में देवनागरी लिपि में लिखित हिन्दी को भारत की राजभाषा के रूप में स्वीकृति मिली है । इसी उपलक्ष्य में हर साल 14 सितम्बर के दिन हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है।

कारण

पूरे भारतवर्ष में हिन्दी सर्वाधिक बोली जाती है । इसे देश की 80 प्रतिशत जनता समझ सकती है अथवा अपने विचार को प्रकट कर सकती है। हिन्दी भाषा सहज सरल है। इसे संस्कृत की भगनी भी कहते हैं। हिन्दी भाषा में अनेक प्रादेशिक भाषाओं का भी अधिकाधिक शब्दों का प्रयोग होता है। उर्दू असमीया, बला, पंजाबी, गुजराती, उड़िया, राजस्थानी आदि कई भाषाओं के शब्द मिलते हैं, जिससे सभी भारतवासी के लिए सहज एवं सुबोध भाषा के रूप में हिन्दी प्रतीत होती है।

भारत जब अंग्रेजों के अधीन था, तब भी महामानव महात्मा गाँधी जैसे महान नेताओं ने देश की अपनी एक राष्ट्रभाषा होने की जरूरत को बड़ी गहनता से महसूस किया था। उन्होंने आजादी के साथ-साथ राष्ट्रभाषा हिन्दी के प्रचार व प्रसार पर भी बल देते थे। उन्होंने कहा है- ”राष्ट्रभाषा के बिना राष्ट्र दूंगा होता है।”

प्रत्येक राष्ट्र की अपनी राष्ट्रभाषा होती है। राष्ट्रभाषा के जरिए राष्ट्र की एकता, सौहार्द, भाइचारे जैसे नागरिक-कर्तव्यों का विकास होता है। इन सभी बातों पर ध्यान देते हुए भारतीय संविधान सभा ने हिन्दी भाषा को देश की राजभाषा के रूप में सांविधानिक मर्यादा प्रदान की है।

आयोजन

हिन्दी दिवस बड़े धूमधाम से मनाया जाता है । हिन्दी दिवस, हिन्दी सप्ताह, हिन्दी पखवाड़ा आदि कई रूपों में इस कार्यक्रम को मनाने का सिलसिला जारी है । खासकर केंद्रीय सरकार के अधीनस्थ सभी कार्यालयों, उपक्रमों, निगमों, संस्थानों में यह दिवस खूब उत्साहपूर्वक मनाए जाते हैं ।

बैंक, रेल, तेल कम्पनी, सरकारी दफ्तरें तथा संस्थानों में हिन्दी दिवस के अवसर पर बड़े-बड़े पोस्टर लगाए जाते हैं। विभिन्न प्रतियोगिता, भाषण आदि कार्यक्रमों में बड़े-बड़े महानुभावों को बुलाए जाते हैं तथा हिन्दी में काम करने वाले कर्मचारियों को पुरस्कार भी दिया जाता है। सरकारी तथा गैर सरकारी सभी क्षेत्रों में हिन्दी को बढ़ावा देने हेतु पूरे सितम्बर महीने तक अनेक कार्यक्रमों द्वारा इस गौरवपूर्ण उपलब्धि को स्मरण किया जाता है।

उपसंहार

स्वतंत्र भारत की हिन्दी राजभाषा है। महात्मा गाँधी, डॉ.राजेंद्र प्रसाद, काकासाहब कालेलकर जैसे महान व्यक्तियों के अथक परिश्रम के बाद ही वर्तमान हिन्दी को यह सम्मान मिला है। आजकल हिन्दी दिवस केवल दिखाने के लिए आयोजित किए जाते हैं, संविधान में जिस परम उद्‌देश्य से इस भाषा को मर्यादित किया गया है, वह उद्‌देश्य वर्तमान प्राप्त नहीं हो सका। अत: सरकारी, गैर सरकारी कार्यालयों में हिन्दी भाषा में सभी कामकाज करने से ही हिन्दी दिवस प्रायोगिक रूप में सफल सिद्ध होगा।

राष्ट्रभाषा हिन्दी पर निबंध PDF | हमारी मातृभाषा हिंदी पर निबंध PDF

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। भारत में हिंदी भाषा को एक राजभाषा का मान देते हुए पूरे भारतवर्ष में इसके प्रचार-प्रसार और लोगों के डीजे हिंदी भाषा के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए हिंदी दिवस का त्यौहार मनाया जा रहा है। भारत के अधिकांश क्षेत्र में हिंदी भाषा को समझा जाता है इस वजह से 1949 में हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्जा दिया गया था मगर हिंदी भाषा आज भी कुछ क्षेत्र में बहुत कम समझी जाती है जिसे मिटाने के लिए भारत भर में हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार की मुहिम को 14 सितंबर 1953 से शुरू किया गया जिसे हिंदी दिवस का नाम दिया गया था।

तब से लेकर आज तक हिंदी दिवस के पावन अवसर पर हम बड़े हर्षोल्लास के साथ अपने सभी सगे संबंधियों को हिंदी दिवस की शुभकामनाएं देते है। इस दिन अलग-अलग संस्थानों के द्वारा अलग-अलग प्रकार के समारोह का आयोजन किया जाता है जहां हिंदी कविता हिंदी भाषा और हिंदी निबंध के बारे में जानकारी दी जाती है। हिंदी दिवस के अवसर पर आयोजित अलग-अलग प्रकार के समारोह का मकसद भारत में हिंदी भाषा के प्रचार-प्रसार का बढ़ावा है।

राजभाषा हिंदी पर निबंध PDF

नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करके आप बड़ी आसानी से हिंदी दिवस पर निबंध PDF / Hindi Diwas Par Nibandh PDF in Hindi डाउनलोड कर सकते हैं।

हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh pdf

हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh PDF Download Link

REPORT THISIf the download link of हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh PDF is not working or you feel any other problem with it, please Leave a Comment / Feedback. If हिंदी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas Par Nibandh is a copyright material Report This. We will not be providing its PDF or any source for downloading at any cost.

RELATED PDF FILES

Leave a Reply

Your email address will not be published.